संसद में आसाराम पर हंगामा, हाजिर होने से इनकार, पुलिस करेगी कार्रवा

thumb.phpजोधपुर। नाबालिग से यौन शोषण के मामले में कथावाचक आसाराम पर कार्रवाई को लेकर शुक्रवार को संसद में हंगामा हुआ। जदयू नेता शरद यादव ने तत्काल कार्रवाई की मांग की। आसाराम को शुक्रवार को जोधपुर में जांच अधिकारी एसीपी चंचल मिश्राम के समक्ष पूछताछ के लिए पेश होना है, मगर उन्होंने 15 दिन की मोहतल मांगी है। उन्होंने अपने समधी के निधन को वजह बताते हुए पुलिस को इसकी सूचना दी है। पुलिस ने वक्त देने से इनकार कर दिया है और उनकी गिरफ्तारी के लिए एसीपी मिश्रा के नेतृत्व में तीन थानेदारों की टीम बना दी गई है।

शनिवार सुबह आसाराम जहां भी होंगे, उन्हें गिरफ्तार करने के लिए टीम रवाना हो जाएगी। छिंदवाडा के गुरूकुल की वार्डन शिल्पी, संचालक शरदचंद्र और आसाराम के प्रमुख सेवादार शिवा को भी गुरूवार रात पुलिस के समक्ष पेश होना था, मगर वे भी पेश नहीं हुए। शरदचंद्र और शिवा ने अपना मेडिकल सर्टिफिकेट भेजा है। पुलिस की टीमें अब उनकी गिरफ्तारी के लिए रवाना हो गई हैं।

जोधपुर पुलिस कमिश्नर बीजू जॉर्ज जोसेफ ने कहा है कि अगर शुRवार शाम तक आसाराम पूछताछ के लिए नहीं पेश होते तो शनिवार को उनकी गिरफ्तारी हो सकती है। सूत्रों के मुताबिक, अपनी गिरफ्तारी की आशंका को देखते हुए आसाराम ने समर्थकों से जोधपुर पहुंचने की अपील भी की है। बीमार नहीं थी नाबालिग छात्रा: पुलिस जांच में खुलासा हुआ है कि आसाराम पर यौन उत्पीडन का आरोप लगाने वाली छिंदवाडा गुरूकुल की नाबालिग छात्रा को कोई बीमारी नहीं थी, बल्कि पूरी साजिश उसको आसाराम के समक्ष समर्पण कराने की थी। अब तक की पुलिस जांच के मुताबिक, गुरूकुल वार्डन ने बीमारी के बहाने ही उसके परिजनों को बुलाया था, मगर बाद में भूत-प्रेत का साया बताकर आसाराम से अनुष्ठान कराने का दबाव बनाया था।

Leave a Reply